महत्वाची बातमी

कोरोना वायरस का असर :: पालघर से मजदूर लेकर आ रहे पीकअप वाहन को आसेगांव पुलिस ने पकड़ा.

Advertisements

— वाहन चालक पर विविध धाराओं के तहत अपराध दर्ज.
— मजदूरो की भी कराई गई स्वास्थ्य जांच.
— सभी मजदूरों को 14 दिन का कोरीडोर.

मुखतार सागर

आसेगांव 28 मार्च.
राज्य में बढ रहें कोरोना वायरस के प्रादुर्भाव को देखते हुए राज्य के जिला की सीमाओं को भी मुख्यमंत्री आदेश द्वारा बंद किया गया है. इस के लिए पुलिस प्रशासन ने भी सतर्कता के साथ कार्य को गति प्रदान की है. जगह जगह पुलिस ने अंतरजिला से जिला के भीतर प्रवेश करने वाले वाहनों पर चेकिंग कर प्रतिबंध लगाने की मुहिम चलाई रखी है. जीवन आवश्यक सामग्री के वाहनों को चेकिंग के दौरान जिले में प्रवेश करने की अनुमति है. इसी का लाभ उठाकर पीकअप माल वाहतूक वसई पालघर-मुंबई से चोर रास्तो से होते हुए मजदूरो को लेकर आसेगांव थाना क्षेत्र सीमा में पहुंची इसी दौरान उक्त पीकअप वाहन को गस्त के माध्यम से चेकिंग कर रहें आसेगांव पुलिस थाना के पीएसआए व कर्मचारियो ने फालेगांव चौराहे पर रोका. चालक से पूछे जाने पर चालक ने मुंबई के पालघर से मजदूरो को लाने की बात कही. पीकअप वाहन क्रमांक MH-37 T 1077 को मजदूरो समेत हिरासत में लेकर पुलिस ने आसेगाव प्राथमिक आरोग्य केंद्र में लाकर सभी की स्वास्थ जांच करवाई. आरोपी वाहन चालक के खिलाफ थाने में धारा 188 , 269, 270, 271 ,290 आईपीसी व सहधारा 66,192 मोटरवाहन कानून के तहत अपराध दर्ज किया गया है सभी रामगढ़ और खापरदरी के कुल 13 मजदूरो को संबंधित वैधकिय अधिकारी ने जांच कर 14 दिनों के लिए घर से बाहर नही निकलने (कोरीडोर) का अल्टीमेटम दिया है. तथा वैधकिय प्राथमिक ब्योरे के अनुसार मजदूरो को घर भेज दिया गया है. इस तरह की जानकारी आसेगांव पुलिस द्वारा प्राप्त हुई है. जिला पुलिस अधीक्षक वसंत परदेशी, अप्पर जिलापुलिस अधीक्षक विजय कुमार चव्हाण, उपविभागीय पुलिस अधिकारी यशवंत केडगे के मार्गदर्शन में थानेदार शिवाजी लष्करे, पीएसआए किशोर खंडार पुलिस कर्मी गणेश राठोड़ एवं जावेद बेणीवाले ने उक्त कार्रवाई की है.
मुंबई से मजदूरो को लेकर वाहन यहां तक पहुंचा कैसे :
राज्य की राजधानी से मुख्यमंत्री द्वारा आदेश दिए जाने के बावजूद 15 से अधिक जिलो को पार करते हुए मजदूरों से भरा पीकअप वाहन वसई पालघर मुंबई से यहां तक कैसे पहोंचा इस तरह की चर्चा जिले में होने लगी है वाशिम के आसेगाव पुलिस की कार्रवाई अन्य जिलो की पुलिस कार्य शैली पर उंगलियां उठने लगी है और इस कारवाई ने मुख्यमंत्री के आदेश की अवहेलना को उजागर किया है .

फोटो– पुलिस हिरासत में लिया गया पीकअप वाहन.

You may also like

महत्वाची बातमी

डॉ. पायल तडवी आत्महत्या प्रकरणात महाराष्ट्र सरकारने कोर्टात ताबडतोब पुनर्विचार याचिका दाखल करावी

  रावेर (शरीफ शेख) रॅगिंग विरोधी समितीच्या शिफारशी नुसार संबंधित आरोपींवर निलंबनाची कारवाई न करणाऱ्या ...
महत्वाची बातमी

जिल्हा उपनिबंधक श्री कुंदन भोळे यांनी तात्काळ घेतली “पत्रकार संरक्षण समिती” च्या तक्रारीची दखल

सोलापूर  – सोलापूर येथील सोलापूर सिध्देश्वर बँकेच्या मुख्य वसुली अधिकारीने दै . अब तक सोलापूरचे ...