Home महत्वाची बातमी कोरोना वायरस सुनामी से भी तेजी से फैल रहा है

कोरोना वायरस सुनामी से भी तेजी से फैल रहा है

40
0

चीन दुनिया के प्राचीन देशो में से एक है, जो एशियाई महाद्वीप के पू‍र्व में बसा हुवा देश है। चीन की सभ्यता और संस्कृति ६ शताब्दी से भी पुरानी है। चीन की लिखने कि भाषा दुनिया की सबसे पुरानी भाषा है जो आज तक उपयोग में लायी जाती है, और चीन को नई खोज का जनक भी माना जाता है। ब्रिटिश विद्वान और जीव-रसायन शास्त्री जोसफ नीधम ने प्राचीन चीन के चार महान अविष्कार का जनक बताये जिसमे कागज़, कम्पास, बारूद और मुद्रण। ऐतिहासिक रूप से चीनी संस्कृति का प्रभाव पूर्वी और दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों पर रहा है और चीनी धर्म, रिवाज़ और लेख कि प्रणाली को इन देशों में अलग-अलग स्तर तक अपनाया गया है। लेकीन हाल ही मे कोरोना वायरस के चलते चीन का नाम सारी दुनिया मे लिया जा रहा है क्यू चीन के वुहान शहेर से शरू हुवे कोरोना वायरस आज पुरी दुनिया कि मानवता को शर्मसार किया और सभी जगा पे फैल गया है, जो आये दिन बदिन बेकाबू होता जा रहा है। रोज हर देश राज्य शहेर गाव से नये नये मरीज सामने आ रहे है जो ऐक बहोत ही चिंता का कारण बना हुवा है। लेकीन ऐसे हालत मे महाराष्ट्रा के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की हो रही है सराहना। कोरोना वायरस ने दुनियाभर में महामारी का रूप ले लिया है। भारत में भी पंतप्रधान नरेंद्र मोदी ने २१ दिन का लॉकडाऊन करने का ऐलान किया है। दुनिया के लगभग १८० से भी ज्यादा देश कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं और वर्तमान समय में दुनिया के कई देश कोरोना वायरस से छुटकारा पाने के लिए कई बड़ी-बड़ी कोशिशें कर रहे हैं। लेकिन अभी तक कोरोना वायरस के बारे में सफल इलाज नहीं मिल पाया है, जिसके चलते दुनिया भर के सभी देश को कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं। कोरोना वायरस को देखते हुए भारत के लगभग ३० से ज्यादा राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश में पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है। पंतप्रधान मोदीने से फैसला मंगलवार को लिया, मगर महाराष्ट्र राज्य को ७ दिन लॉकडाउन करने का फैसला इससे पहले ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे इन्होंने लिया था। आपकी जानकारी के लिए बता दे महाराष्ट्र भारत का पहला ऐसा राज्य है जहां पर कोरोना वायरस से संक्रमित सबसे ज्यादा मरीज हैं। कोरोना वायरस के चलते महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक बहुत बड़ा फैसला किया है जिसे जानकर पूरा देश उद्धव ठाकरे की तारीफ कर रहा है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि, ३१ मार्च तक के लिए मुंबई, एमएमआरडीए क्षेत्र, पुणे, पिंपरी चिंचवड़ और नागपुर में सभी कार्यस्थल बंद किए जाएंगे। सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि मुंबई, पुणे, नागपुर और पुणे से सटे पिंपरी चिंचवड़ में सभी दुकानें बंद रहेंगी। हालांकि इस दौरान बैंक सेवाएं खुली रहेंगी। साथ ही मेडिकल सेवाएं भी निर्बंध रूप से मुहैया कराई जाएंगी। महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री ने कहा है कि कक्षा १ से ८ तक की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। छात्रों को बिना परीक्षा के ही अगली क्लास में भेज दिया गया है। इतनाही नही मुंबई की लाईफलाईन कही जानेंवाली ‘लोकल ट्रेन’ बंद करवाने का ऐतिहासिक फैसला लेने की धमक उध्दव ठाकरे ने दिखायी है। बेस्ट बस, महाराष्ट्र परिवहन महामंडल की बसेस के साथ सभी सरकारी परिवहन सेवायें ३१ मार्च तक बंद करवा दी है। देश की आर्थिक राजधानी को एक दिन भी बंद करना सस्ता नही है, पर जनता की जानसे बढकर कुछ नही, ये उध्दव ठाकरे ने बता दिया है। सरकारी नेता ही नही विरोधी नेता भी अब मुख्यमंत्री की सराहना करते दिख रहे है। चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस इटली और अमेरिका रुस इरान जैसे देशों को भी बुरी तरह बीमार कर चुका है और अब भारत भी उसकी चपेट में आ गया है। वैसे चीन में पिछले दिनों में कोई नया मामला सामने नहीं आया है, लेकिन विशेषज्ञ इसे कोरोना वायरस का खात्मा नहीं मान रहे है। उनका मानना है कि सुनामी की लहरों की तरह अभी कोविड-१९ की कई लहरें आ सकती है विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनिया भर में कोरोना वायरस की संख्या ४,२०,००० से ज़्यादा, इटली में मौतों की दर अधिक होने का वजाह सामने आया, अमरीका और चीन के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसीला शुरू हो चुका इस समय सारी दुनिया में कोरोना वायरस ही चर्चा का विषय बना हुआ है, इससे जुड़ी महत्वपूर्ण ख़बरों में एक तो यह है कि कोरोना वायरस लोगों की संख्या ४ लाख २० हज़ार ८९७ हो गई है जबकि मरने वालों की संख्या १८ हज़ार ८३१ है। १ लाख ८ हज़ार ५२० बीमारों का सफलता से इलाज हुआ। सारी दुनिया में कोरोना वायरस से सबसे अधिक मौतें इटली में हुई हैं जिसके बाद स्पेन और फिर चीन का नंबर है। अमरीका में यह बीमारी बेहद गंभीर रूप धारण कर चुकी है। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि इटली के बाद अमरीका दुनिया में कोरोना वायरस का अगला केन्द्र बन सकता है। अमरीका ने चीन पर आरोप लगाया कि उसने कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारियों को छिपाया वरना कोरोना वायरस का मुक़ाबला करने में मदद मिलती थी। अमरीका के विदेश मंत्री माइक पोम्पेयो ने कहा कि चीन की सत्ताधारी पार्टी दुनिया को उन जानकारियों से वंचित रख रही है जो कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने में मददगार साबित हो सकती है। पोम्पेयो ने कहा कि चीन के साथ ही रूस और ईरान भी गुमराह करने वाली ख़बरें दे रहे हैं। अमरीकी विदेश मंत्री ने इस प्रकार का बयान इसलिए दिया है कि कोरोना वायरस के बारे में अमरीकी सरकार की दुनिया भर में और खुद अमरीका के भीतर कड़ी आलोचना की जा रही है। इटली में कोरोना वायरस के कारण सबसे अधिक मौतें हुई हैं जहां मंगलवार तक ६८२० लोगों की जानें जा चुकी थीं जबकि संक्रमित लोगों की संख्या ६९ हज़ार १७६ तक पहुंच गई है। इटली के एक अधिकारी एंजीलो बोरीली ने कहा है कि देश में संक्रमित लोगों की जो संख्या घोषित की गई है वास्तविक संख्या संभवतः इससे दस गुना ज़्यादा है। अमरीकी टीवी चैनल सीएनएन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि इतालवी अधिकारी के इस बयान से यह बात समझ में आती है कि इटली में कोरोना वायरस से मरने वालों की दर इतनी ज़्यादा क्यों है। दूसरी ओर स्पेन ने एलान किया है कि वहां अन्य ७३८ संक्रमितों की मौत हो गई जिसके बाद कोरोना वायरस से मरने वालों की कुल संख्या ३४३४ हो गई है। स्पेन में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के ५५५२ नए मामले सामने आए जिसके बाद कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या ४७ हज़ार ६१० हो गई है। इस्लामी गणतंत्र ईरान में भी कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या २७ हज़ार से अधिक है जबकि मरने वालों की संख्या २०७७ है। चीन में जहां से कोरोना वायरस फैलना शुरू हुआ अब यह महामारी क़ाबू में आ गई। मंगलवार को इस देश में ७८ नए मामले सामने आए जबकि बुधवार को ४७ नए कोरोना वायरस संक्रमित मिले। चीनी अधिकारियों का कहना है कि यह सारे लोग वह हैं जो विदेशों से चीन लौटे हैं। चीन में संक्रमितों की कुल संख्या ८१ हज़ार २१८ है जिनमें से ३२८१ की मौत हो गई। उधर प्रिंस चार्ल्स को भी हुआ कोरोना वायरस प्रिंस चार्ल्स को कोरोना वायरस के लक्षण ज़ाहिर होने के बाद, प्रिंस चार्ल्स की जब जांच की गई तो उनकी जांच का रिज़ल्ट पॉज़िटिव निकला है। क्लेरेंस हाउस ने पुष्टि की है कि चार्ल्स डचेस ऑफ़ कॉर्नवाल के साथ स्कॉटलैंड स्थित अपने महल में आइसोलेशन में हैं। बुधवार को जारी बयान में कहा गया है कि यह पता लगाना संभव नहीं है कि किससे प्रिंस ऑफ़ वेल्स तक यह वायरस पहुंचा है, लेकिन वे पिछले कुछ दिनों से घर पर रहकर ही अपना काम जारी रखे हुए थे। ७१ वर्षीय प्रिंस चार्ल्स का उनकी ७२ वर्षीय पत्नी कैमिला के साथ राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा एनएचएस ने कोरोना वायरस का टेस्ट किया था। प्रिंस कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जबकि उनकी पत्नी में अभी इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है। प्रिंस ऑफ़ वेल्स के कोरोना वायरस से पीड़ित होने की पुष्टि करते हुए बकिंघम पैलेस ने कहा है कि क्वीन एलिज़ाबेथ द्वितीय पूरी तरह से स्वस्थ हैं, उन्होंने १२ मार्च की सुबह अपने बेटे चार्ल्स से संक्षिप्त मुलाकात की थी। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सोमवार को देश भर में लॉकडाउन की घोषणआ के साथ ही कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए कड़े क़दम उठाने की चेतावनी दी थी। जॉनसन ने कहा था कि अगर आप नियमों का पालन नहीं करते हैं, तो पुलिस के पास इसका पालन कराने की शक्तियां हैं। ब्रिटेन में अब तक ८०७७ कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जबकि ४२२ लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं। भारत ने कोरोना वायरस के चालते ऐक बड़ा कदम लिया, जिसमे ३० राज्य व केंद्रशासित प्रदेश लॉकडाउन तीस राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए ५४८ जिलों में पूर्ण लॉकडाउन बंद की घोषणा की। सरकार ने सोमवार को यह जानकारी दी। पत्र सूचना कार्यालय के ट्वीट में कहा गया है कि जिन राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों ने अपने सभी जिलों में बंद लागू कर दिया है, वे चंडीगढ़, दिल्ली, गोवा, जम्मू कश्मीर और नगालैंड हैं।

लियाकत शाह (एमए बी.एड)
महाराष्ट्र राज्य कार्यकारी समिति सदस्य,
अखिल भारत जर्नालीस्ट फेडरेशन

Unlimited Reseller Hosting