Home विदर्भ चंद लम्हों में सब उजड़ गया साहब….!

चंद लम्हों में सब उजड़ गया साहब….!

75
0

प्रवासी श्रमिको और वाहन चालकों को दिया जारहा मुफ्त खाना और पानी..

प्रा.मो.शोएबोद्दीन

अएलेहक तंजीम छोटा मोमिनपुरा बालापुर का उपक्रम…..

अकोला / बालापुर – एक प्रवासी श्रमीक ने बात करते हुवे बताया के वोह अपने बच्चों के उज्वल भविष्य के खातीर मुम्बई आया था पर भगवान को कुछ और ही मंजूर था हमारी जमा पूंजी खत्म हो गई खाने को कुछ नही बच्चो को कैसे अच्छी शिक्षा दे अब तो हमारे पास कुछ भी बचा नही
एक लम्हें में सब कुछ उजड़ गया साहब”””

देश में जारी करोना संकट के बीच अगर सब से ज्यादा कोई प्रभावित हुवा है तो वोह है प्रवासी मज़दूर । जब से लॉक डाउन घोषित हुवा है तब से ये प्रवासी मज़दूर अपने घरों को जाना चाहते है।क्यों के उन के पास का पैसा और खाना सब खत्म हो चुका है जिस कारण वोह अपने गाँव जाना चाहते है ।कई श्रमीक पैदल ही अपने घरों की ओर निकल पड़े जिन की तस्वीरें हुम् अनेक मद्ध्यम द्वारा हम देख चुके है ।इतना सब कुछ होने के बाद उन्हें अपने अपने राज्य और गॉव तक छोड़ने के लिए कई श्रमीक बसों और ट्रेनों का इंतेज़ाम केंद्र और राज्य की सरकारों ने क्या पर दुर दराज़ के ये मज़दूर भूक और प्यास से निढाल है क्यों के रास्तों से मिलने वाले होटल और ढाबे लॉक डाउन की वजह से बंद पड़े हुवे है ।अयेसे में कुछ संघटन है जो इन प्रवासी मजदूरों की मदत के लिये सामने आई है जीन में बालापुर छोटा मोमिन पुरा की एक तंज़ीम अएलेहक़ तंज़ीम जो हाइवे नंबर 6 गुरु द्वारे के पास कई दिनों से प्रवासी मजदूरों और वाहन चालकों को अपनी ओर से खाना और पानी मुफ्त में बांट रही है तंज़ीम के इस काम की हर कोई सरहाना कर रहा है ।अएलेहक़ तंज़ीम के
नदीम भाई शाकिर भाई गफ्फार भाई फव्वाद भाई आवेज़ भाई इमरान वाड़ी मोहम्मद मनाज़िर भाई इज़हार भाई मुख्तार भाई राजा भाई रिज़वान भाई अबु भाई और साथि मिलकर भूखे मजदूरों को खाना और पानी पिला रहे है

Unlimited Reseller Hosting